डॉक्टरों की तमाम कोशिशों के बाद भी नहीं बच पाई प्रीति

रामनगर(नैनीताल)डेढ़ हफ्ते से जीवन और मृत्यु के बीच संघर्ष कर रही प्रीति की आज मृत्यु हो गई है। ग्राम – नाथूपुर,छोई निवासी मोहन सिंह बिष्ट की पुत्री प्रीति एक दुर्घटना में घायल हुई थी।बीती 1 नवम्बर को स्कूटी से घर लौटते समय प्रीति उपखनिज लेकर जा रहे डंपर की चपेट में आकर गंभीर रूप से घायल हो गई थी।राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय रामनगर में BA प्रथम वर्ष की छात्रा प्रीति का हल्द्वानी के विवेकानन्द अस्पताल में उपचार चल रहा है।बताया जा रहा है कि जिस डंपर से वह घायल हुई थी,वह गैबूआ में उप खनिज स्टॉक में शिफ्टिंग के कार्य में चल रहा था उसी के संचालक खनन कारोबारी समर पाल चौधरी द्वारा घायल प्रीति का उपचार कराया जा रहा था।डेढ़ सप्ताह बाद आज प्रीति ने उपचार के दौरान अस्पताल में दम तोड़ दिया।प्रीति अपने दो बड़े भाईयो की इकलौती बहिन थी।

x

Check Also

ढेला के बच्चो ने जाना चिड़ियो का संसार

रामनगर। राजकीय इंटर कालेज ढेला के 40 से अधिक बच्चों ने आज कार्बेट पार्क क्षेत्र के पक्षियों के बारे में ...