उत्तराखंड विधानसभा का तीन दिवसीय सत्र कल से

सत्ता पक्ष मंगलवार से शुरू हो रहे विधानसभा सत्र के दौरान विपक्ष पर पलटवार के इरादे से सदन में उतरेगा। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के सरकारी आवास पर हुई भाजपा विधायक मंडल दल की बैठक में यह रणनीति बनाई गई। बैठक में विपक्ष द्वारा उठाए जाने वाले संभावित मुद्दों से निपटने के लिए वरिष्ठ नेताओं ने सदस्यों को मंत्र दिए।

मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई बैठक में अधिकांश विधायक उपस्थित थे। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट और प्रदेश महामंत्री नरेश बंसल ने भी बैठक में शिरकत की। दोनों नेताओं की मौजूदगी में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और संसदीय कार्यमंत्री प्रकाश पंत ने सदस्यों को सदन की कार्यवाही में सक्रिय रूप से भाग लेने और जनहित से जुड़े मसलों को उठाने की सलाह दी।

इस दौरान मीटू, स्टिंग ऑपरेशन, लोकायुक्त और कानून व्यवस्था के मुद्दे विपक्ष द्वारा सदन में उठाए जाने की संभावना जताई गई। सूत्रों की मानें तो बैठक में तय हुआ कि सदन में विपक्ष के हमलों का सरकार के मंत्री ही नहीं बल्कि विधायक भी जवाब देंगे और जरूरत पड़ी जवाबी हमला बोलेंगे।

x

Check Also

‘बिना दांत-नाखून वाला शेर रहेंगे आलोक वर्मा’

नयी दिल्ली: देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) में काफी समय से चल रहे विवाद पर आज ...