हत्या और डकैती की वारदातों से सहमा हल्द्वानी

हल्द्वानी(नैनीताल) बदमाशों ने गोरापड़ाव के हरिपुर पूर्णानंद गांव में खनन कारोबार से जुड़े ट्रांसपोर्टर लक्ष्मी दत्त पांडे के घर में धावा बोलकर उनकी पत्नी पूनम पांडे की धारदार हथियारों से प्रहार कर निर्मम हत्या कर दी। जबकि बेटी अर्शी पांडे को अधमरा कर दिया गया। बदमाशों ने उनके पालतू कुत्ते को भी कुचलकर मौत के घार उतार दिया।मंगलवार सुबह ट्रांसपोर्टर के घर पहुंचने पर वारदात का पता चला। रात वह बीमार मां की देखभाल के लिए अस्पताल में थे। ट्रांसपोर्टर के मुताबिक बदमाश घर में रखी 312 बोर की दो नाली बंदूक, स्कूटी, नकदी और जेवरात लूट ले गए हैं। पुलिस महानिरीक्षक पूरन सिंह रावत और नैनीताल के एसएसपी जन्मेजय खंडूड़ी ने घटनाक्रम की जानकारी ली। बताया कि पुलिस और एसओजी को वारदात के खुलासे में लगाया गया है।मूल रूप से जवाहर नगर (पंतनगर) जिला ऊधमसिंह नगर निवासी लक्ष्मी दत्त पांडे करीब 18 साल से नैनीताल जिले के हरिपुर पूर्णानंद गांव में बरेली हाईवे से चंद कदम की दूरी पर परिवार के साथ अपने मकान में रहते हैं। उनकी 70 वर्षीय मां देवकी देवी पांच दिनों से हल्द्वानी स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती हैं। सोमवार रात करीब नौ बजे खाना खाकर लक्ष्मी दत्त उनकी देखभाल के लिए अस्पताल चले गए। घर पर उनकी पत्नी पूनम पांडे (42) और बेटी अर्शा उर्फ अर्शी पांडे (19) थीं। मंगलवार सुबह करीब छह बजे ट्रांसपोर्टर अस्पताल से घर लौटे तो बेड रूम में पत्नी व बेटी को खून से लथपथ मिले। उनका पालतू कुत्ता भी मरा मिला। उन्होंने बताया कि बेड रूम की अलमारी व कमरे में रखे संदूक खुले थे और सामान बिखरा था। पत्नी पूनम उनके पहुंचने से पहले ही दम तोड़ चुकी थी, जबकि बेटी अर्शी को उन्होंने पड़ोसियों की मदद से पहले सुशीला तिवारी स्मारक अस्पताल हल्द्वानी और उसके बाद एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। अर्शी नैनीताल में पढ़ाई करती है। चार दिन पहले रक्षाबंधन पर्व पर वह आई थी। ट्रांसपोर्टर ने हत्या और लूटपाट की रिपोर्ट दर्ज कराई है। एसपी सिटी अमित श्रीवास्तव और सीओ डीसी ढौंडियाल ने बताया कि मौके से 12 बोर का एक जिंदा कारतूस, टूटे दांत के टुकड़े मिले हैं। फॉरेंसिक जांच के लिए घटनास्थल से खून के नमूने लिए गए हैं।

एसएसपी जन्मेजय खंडूड़ी ने बताया कि ट्रांसपोर्टर की पत्नी की हत्या व लूट की घटना को अंजाम देने वाले बदमाशों को पकड़ने के लिए एसओजी व पुलिस टीमें काम कर रही हैं। मां-बेटी व कारोबारी के मोबाइल नंबरों की सर्विलांस सेल जांच कर रही है। वारदात पेशेवर गिरोह ने की या साजिशन हत्या हुई, इसके बारे में कोई टिप्पणी करना अभी जल्दबाजी होगी।

x

Check Also

2030 तक भारत को 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्‍यवस्‍था बनाना है उद्देश्‍य

नई दिल्ली। नीति आयोग ने देश की आर्थिक वृद्धि दर को बढ़ाकर 8-9 प्रतिशत करने तथा 2030 तक 5,000 अरब ...