स्वतंत्रता दिवस पर राजनैतिक भाषण देकर प्रधानमंत्री मोदी ने फिर बोला विपक्ष पर हमला !

नई दिल्ली। देश की आजादी के 71 साल पूरे हो चुके हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 72वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले के प्राचीर से 82 मिनट तक देश को संबोधित किया, लेकिन इस दौरान उन्होंने एक बार भी अल्पसंख्यक शब्द का इस्तेमाल नहीं किया गया। हालांकि उन्होंने अल्पसंख्यक समुदाय में सिर्फ मुस्लिम महिलाओं का तीन तलाक के बहाने जिक्र किया।प्रधानमंत्री तीन तलाक के मुद्दे पर विपक्ष पर राजनैतिक हमला करते दिखे.केंद्र की सत्ता हासिल करने से पहले पाकिस्तान को उसी की भाषा में जवाब देने और एक सर के बदले दस सर लेने की बात करने वाले मोदी ने कहा की कश्मीर समस्या का हल गोली से नहीं बल्कि बातचीत से ही सुलझाया जा सकता है.

तीन तलाक के मुद्दे पर पीएम ने कहा कि हमारी मुस्लिम बहन-बेटियों की जिंदगी को बर्बाद किया है। जिन्हें तलाक नहीं मिला है वो इसके डर और दबाव में जीती हैं।

विपक्ष का नाम लिए बिना पीएम ने कहा कि हमने मुस्लिम बहनों को इससे निजात दिलाने के लिए संसद में इसी सत्र में बिल लाने का काम किया लेकिन कुछ लोग अभी इसे पास नहीं होने दे रहे हैं। वे इस बिल के विरोध कर रहे हैं, लेकिन भरोसा रहे मैं उनकी मांग को पूरा करुंगा।

बता दें कि देश में करीब 20 फीसदी अल्पसंख्यक समुदाय की जनसंख्या है। मौजूदा दौर में जब अल्पसंख्यक समुदाय और खासकर मुस्लिम समाज में इस बात को लेकर बहस हो रही है कि कैसे उनकी जान-माल कैसे सलामत रहे।

x

Check Also

रामनगर में इन दो स्टोन क्रेशरों के निर्माण पर NGT ने लगाई रोक

रामनगर(नैनीताल)एनजीटी ने ग्राम सक्खनपुर में निर्माणाधीन दो स्टोन क्रशर के निर्माण पर रोक लगा दी है।राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण ने ग्राम ...