अगले 5 दिन उत्तर हिंदुस्तान के लोग लू से तपने के लिए तैयार, 48 डिग्री के पार निकलेगा पारा

अगले 5 दिन उत्तर हिंदुस्तान के लोग लू से तपने के लिए तैयार रहें। में बुधवार से लू अपना कहर बरसाएगी। मौसम विभाग ने अलर्ट किया है कि कल यानी बुधवार से तेज हवाओं के साथ लू चलेगी। कुछ इलाकों में पारा 48 डिग्री के पार निकल सकता है। यही वजह है कि गर्मी अभी व बढ़ने वाली है। इसके अतिरिक्त पूर्वोत्तर राज्यों में तेज हवाएं चल सकती हैं। हालांकि, इसका प्रभाव ज्यादा नहीं दिखेगा।

48 डिग्री के पार जाएगा पारा
मौसम विभाग के मुताबिक, उत्तर हिंदुस्तान में इस वक्त तापमान 44 डिग्री के आसपास है। दिल्ली में मंगलवार को 12 बजे सबसे गर्म दिन दर्ज किया गया है। यहां तापमान 44.3 डिग्री के पार निकल गया .। यह इस सीजन का सबसे गर्म दिन है । अगले 5 दिनों में दिल्ली-एनसीआर के अलावा, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान, हरियाण में तापमान 44 डिग्री के ऊपर ही बना रहेगा । वहीं, राजस्थान के कुछ इलाकों में यह 47 डिग्री के पार निकल सकता है । 25 मई के बाद पार 48 डिग्री के पार पहुंचने की संभावना जताई गई है ।

मध्य प्रदेश, विदर्भ में चलेगी लू
लू की आरंभ मध्य प्रदेश, विदर्भ के इलाकों से होगी । बुधवार को जबलपुर व खजुराहो में लू चलेंगी की आसार है । वहीं, विदर्भ के कुछ इलाकों में भी लू साथ तापमान 45 डिग्री के पार बना रहेगा ।

उत्तर हिंदुस्तान में कैसी रहेगी गर्मी
मौसम विभाग के मुताबिक, दिल्ली-एनसीआर में मई के अंत तक लू चलने की स्थिति बनी रहेगी । इस दौरान तापमान लगातार 45 डिग्री तक पहुंचने का अनुमान है । दिल्ली में मई में तापमान सामान्य से 1.5 डिग्री अधिक रहा है .। मौसम विभाग ने बताया कि उत्तर हिंदुस्तान में इस वर्ष सामान्य के मुकाबले एक डिग्री तापमान अधिक रह सकता है ।

गर्मी बरपाएगी कहर
एक तरफ दक्षिण हिंदुस्तान में मॉनसून की आरंभ होगी, लेकिन उत्तर हिंदुस्तान में गर्मी का कहर जारी रहेगा । अगले 48 घंटे में तापमान में 1-2 डिग्री का उछाल देखने को मिल सकता है । राजस्थान, मध्यप्रदेश जैसे इलाकों में पारा 47 डिग्री के पार जा सकता है । हालांकि, इस बीच में मध्य हिंदुस्तान में लू के साथ गर्म हवाएं चल सकती हैं । हवा की गति 45-55 किलोमीटर प्रति घंटा रहेगी ।

क्यों पड़ेगी इतनी गर्मी?
आईएमडी प्रमुख डी शिवानंद पई के मुताबिक, आने वाले दिनों में उत्तर हिंदुस्तान में आसमान पूरी तरह साफ रहेगा। साथ ही ऐंटी-साइक्लोनिक हवाओं से तापमान ज्यादा रहने का अनुमान है।सामान्य से ज्यादा तापमान ग्लोबल वॉर्मिंग का इशारा है। पई के मुताबिक, उत्तर व पूर्वी हिंदुस्तान में अधिकतम तापमान सामान्य के करीब रह सकता है, जो आसमान में बादल व एरिया में प्री-मॉनसून बारिश का इशारा है।

x

Check Also

रामनगर में इन दो स्टोन क्रेशरों के निर्माण पर NGT ने लगाई रोक

रामनगर(नैनीताल)एनजीटी ने ग्राम सक्खनपुर में निर्माणाधीन दो स्टोन क्रशर के निर्माण पर रोक लगा दी है।राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण ने ग्राम ...